Metaverse a different world | What does it mean to build the metaverse |मेटावर्स एक अलग दुनिया | मेटावर्स का निर्माण करने का क्या अर्थ है?

META एक नई दुनिया का आरम्भ (META Beginning of a new world)


मेटावर्स एक अलग दुनिया  | "मेटावर्स का निर्माण" करने का क्या अर्थ है?|
मेटावर्स एक अलग दुनिया  | "मेटावर्स का निर्माण" करने का क्या अर्थ है?|

  फेसबुक ये एक प्लेटफार्म है जिसको लगभग सभी ने इस्तेमाल किया है चाहे छोटे कस्बो ,गाओ , या बड़े -बड़े  शहरों की बात करे तो आपको हर जगहे इसके यूजर देखने को मिलेंगे हलाकि , फेसबुक ने अपने नाम को  बदल  कर META कर लिया हे 

इंस्टाग्राम ग्रोथ के साथ आपको जो विचार करना है, वह यह है कि दुनिया भर में केवल 3.5 बिलियन स्मार्टफोन उपयोगकर्ता हैं और अब तक उनमें से 28.57% के पास ऐप है।

How to start and grow your blog Within 7 Days

इंस्टाग्राम ऐप प्रवेश दरें बनाम स्मार्टफोन उपयोगकर्ता

नीचे हम शीर्ष देशों में इंस्टाग्राम की अनुमानित प्रवेश दर देखते हैं, लेकिन इंस्टाग्राम पर बॉट अकाउंट के उपयोगकर्ताओं द्वारा इंस्टाग्राम की संख्या 95 मिलियन थी, जिसका अर्थ है कि उनके 1 बिलियन मासिक स्मार्टफोन उपयोगकर्ताओं में से 9.5% नकली प्रोफाइल हैं। साइबर सिक्योरिटी फर्म चेक प्रोजेक्ट्स के अनुसार, इंस्टाग्राम फर्जी बॉट अकाउंट्स की लागत एक साल में प्रभावशाली विज्ञापन आर्थिक में अनुमानित $1.3 बिलियन है।
Metaverse Ka hua social media Par Kabja
 "मेटावर्स का निर्माण" करने का क्या अर्थ है?

मुख्य आँकड़े:

👉 इंस्टाग्राम बॉट अकाउंट 1 बिलियन मंथलू एक्टिव यूजर्स में से 95 मिलियन जितना हो सकता है।एक घोस्ट डेटा रिपोर्ट के अनुसार।

👉 2015 में इंस्टाग्राम बॉट अकाउंट्स की संख्या 7.9% थी।

कितने अमेरिकी इंस्टाग्राम का उपयोग करते हैं?(How Many Americans Use Instagram?)

Metaverse Ka hua social media Par Kabja
 "मेटावर्स का निर्माण" करने का क्या अर्थ है?


नवीनतम आंकड़ों के अनुसार, अमेरिकी 170 मिलियन उपयोगकर्ताओं के साथ फोटो_शेयरिंग ऐप का उपयोग करने वाला देश है।
Metaverse Ka hua social media Par Kabja
 "मेटावर्स का निर्माण" करने का क्या अर्थ है?

मेटावर्स एक अलग दुनिया (Metaverse a different world )

आज के समय में मेटावर्स काफी चर्चा में हे। मेटावर्स एक अलग दुनिया इससे हमारा क्या मतलब हे ? क्या हमारी वास्तविकता खत्म होने वाली ह।

अभी हमने ऊपर जाना की कितने लोग आज के समय में सोशल मीडिया का इस्तेमाल कर रहे हे। जैसे - जैसे इंटरनेट का विकास हो रहा हे।

मनुष्या वास्तविकता को छोड़ कर मेटावर्स एक अलग दुनिया की और इशारा कर रहा हे। जिस हिसाब से लोग मेटावर्स की तरफ इंट्रेस्ट दिखा रहे हे।

इसको देख कर ऐसा लगता हे की आने वाले समय में लोग वास्तविकता को छोड़ काल्पनिक दुनिया यानी मेटावर्स(एक काल्पनिक दुनिया) को अपनाने वाले हे। जिस हिसाब से इसमें वृद्धि हो रही हे,उसको देख कर लग रहा हे की आने वाले 20 साल में मेटावर्स एक अलग दुनिया बनाने में कामयाब हो जाएगा।


मेटावर्स विश्वकोश(Metaverse Encyclopedia)

आइये मेटावर्स विश्वकोश को देखते हे , और कुछ विशेष बातो पर ध्यान केंद्रित करते हे।
Metaverse Ka hua social media Par Kabja :मेटावर्स एक अलग दुनिया  | "मेटावर्स का निर्माण" करने का क्या अर्थ है?| adnortech
मेटावर्स एक अलग दुनिया  | "मेटावर्स का निर्माण" करने का क्या अर्थ है?|


मेटावर्स विश्वकोश :- मेटावर्स आभासी स्थानों से जुड़ा का अद्भुत एक नेटवर्क है जो एक आभासी ब्रह्मांड से जुड़ा होता है। इसे प्राय: इंटरनेट के भावी संस्करण के रूप में वर्णित किया जाता है। "मेटावर्स" शब्द "मेटा" और "ब्रह्मांड" शब्दों का पोर्टमैंटू शब्द है।

👉एक मेटावर्स सामाजिक कनेक्शन पर केंद्रित 3D आभासी दुनिया का एक नेटवर्क है। भविष्यवाद और विज्ञान कथा में, इस शब्द को अक्सर एक एकल, सार्वभौमिक आभासी दुनिया के रूप में इंटरनेट के एक काल्पनिक पुनरावृत्ति के रूप में वर्णित किया जाता है |

👉जिसे आभासी और संवर्धित वास्तविकता हेडसेट के उपयोग द्वारा सुगम बनाया जाता है।शब्द "मेटावर्स" की उत्पत्ति 1992 के विज्ञान कथा उपन्यास स्नो क्रैश में "मेटा" और "ब्रह्मांड" के एक बंदरगाह के रूप में हुई है।

👉वर्चुअल वर्ल्ड प्लेटफॉर्म जैसे सेकेंड लाइफ जैसे लोकप्रिय उपयोग के लिए विभिन्न मेटावर्स विकसित किए गए हैं। कुछ मेटावर्स पुनरावृत्तियों में आभासी और भौतिक रिक्त स्थान और आभासी अर्थव्यवस्थाओं के बीच एकीकरण शामिल होता है, जिसमें अक्सर आभासी वास्तविकता प्रौद्योगिकी को आगे बढ़ाने में महत्वपूर्ण रुचि शामिल होती है।
विभिन्न संबंधित प्रौद्योगिकियों और परियोजनाओं के लिए विकास की प्रगति को बढ़ा-चढ़ाकर पेश करने के लिए जनसंपर्क के उद्देश्यों के लिए इस शब्द का काफी उपयोग चर्चा के रूप में देखा गया है।

👉सूचना गोपनीयता और उपयोगकर्ता की लत मेटावर्स के भीतर चिंता का विषय है, जो संपूर्ण रूप से सोशल मीडिया और वीडियो गेम उद्योगों के सामने आने वाली चुनौतियों से उत्पन्न होती है

"मेटावर्स का निर्माण" करने का क्या अर्थ है?(What does it mean to "build the metaverse)

👉 मेटावर्स को मूल रूप से विज्ञान कथा लेखक नील स्टीफेंसन द्वारा वास्तविक दुनिया के रूपक, इंटरनेट के एक अवतार और वास्तविकता से पलायन के रूप में देखा गया था।
👉2021 में फेसबुक की मिड-ईयर अर्निंग कॉल के बाद इस अवधारणा को प्रमुखता मिली, जब इसने मेटावर्स के निर्माण में बड़े पैमाने पर निवेश की घोषणा की।

👉इसके तुरंत बाद मेटा के रूप में रीब्रांड किया गया, और, लगभग एक साथ, एपिक गेम्स, माइक्रोसॉफ्ट, नियांटिक,आदि जैसे तकनीकी दिग्गजों ने इस तकनीक में लाखों डॉलर डालने का फैसला किया।

👉लेकिन वास्तव में मेटावर्स बनाने का क्या मतलब है? अधिकांश वर्चुअल रियलिटी ऐप्स के विपरीत, मेटावर्स एक एकल सॉफ़्टवेयर प्लेटफ़ॉर्म नहीं है जिसे आपके सामान्य चुस्त विकास मॉडल का उपयोग करके बनाया जा सकता है।

👉बल्कि, यह एक जटिल डिजिटल वातावरण है जो सात अलग-अलग परतों पर निर्भर करता है (बिल्डिंग द मेटावर्स ब्लॉग के लेखक जॉन रेडॉफ द्वारा सुझाया गया)|

👉इन्फ्रास्ट्रक्चर -5G,वाई-फाई,क्लाउड और हाई-टेक सामग्री जैसे GPU जैसी कनेक्टिविटी तकनीकें।

👉मानव इंटरफ़ेस -VR हेडसेट्स, AR ग्लास, हैप्टिक्स, और अन्य प्रौद्योगिकियां उपयोगकर्ता मेटावर्स में शामिल होने का लाभ उठाएंगे।

👉विकेंद्रीकरण -ब्लॉकचेन, कृत्रिम बुद्धिमत्ता, एज कंप्यूटिंग और लोकतंत्रीकरण के अन्य उपकरण।

👉स्थानिक कंप्यूटिंग - 3D विज़ुअलाइज़ेशन और मॉडलिंग फ्रेमवर्क

👉निर्माता अर्थव्यवस्था - डिज़ाइन टूल, डिजिटल संपत्ति और ई-कॉमर्स प्रतिष्ठानों का वर्गीकरण

👉डिस्कवरी - विज्ञापन, सोशल मीडिया, रेटिंग, समीक्षा आदि सहित कंटेंट इंजन ड्राइविंग एंगेजमेंट।

👉अनुभव - गेमिंग, इवेंट, काम, शॉपिंग आदि के लिए डिजिटल ऐप्स के VR समकक्ष।

मेटावर्स पर कैसे काम करेगा (How it will Work) मार्क जुकरबर्ग का कहना है कि मेटावर्स मैं भी सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन होगी लेकिन वह हमारे नॉर्मल एप्स से काफी अलग होगी। ऐसा माना जा रहा है कि इसमें अवतार को क्रिएट करने की सुविधा होगी जो कि एक 3D टेक्नोलॉजी के रूप में काम करेगा और इसकी मदद से आप एक दूसरे से वर्चुअली जुड़ पाएंगे।


मेटावर्स क्रिप्टो का उपयोग करेगा(Metaverse will use crypto)

एक अन्य मेटावर्स क्रिप्टोक्यूरेंसी जो निवेशक को पर्याप्त नहीं मिल सकती है, वह है सैंडबॉक्स के समान डिसेंट्रलैंड (क्रिप्टोकरेंसी), विकेन्द्रलैंड के उपयोगकर्ताओं के पास अपने लैंड टोकन को मुद्रीकृत करने की क्षमता है, जो कि MANA में अवधि है, उन्हें बाज़ार में बेचकर या उनके माध्यम से एक्सचेंज करके। गेम इंटरेक्शन

बिना VR के मेटावर्स (Metaverse without VR)

कोई समझौता नहीं है कि आपको मेटावर्स तक पहुंचने के लिए VR या AR की आवश्यकता होगी, लेकिन वे काफी हद तक हाथ से चलते हैं जो सुझाव देते हैं कि ये हेडसेट जो कुछ भी ऑफर पर है उसके साथ संगत होंगे।

आखिर आज के समय में मल्टीमीडिया की इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में क्या आवश्यकता है

👉व्यापार में व्यापारी विज्ञापन के लिये मल्टीमीडिया का प्रयोग करते हैं। जिससे विज्ञापन के जरिए व्यापार में काफी लाभ होता है। खेल तथा मनोरंजन में यह तो हम सभी जानते हैं कि खेलों के लिये वीडियो गेम्स के रूप में मल्टीमीडिया का प्रयोग अत्यन्त लोकप्रिय है। मल्टीमीडिया आज के समय में लोगों के लिए वरदान बनकर उभरा है।

मेटावर्स से लाइफ में क्या बदलाव आएंगे (Changes in Life)

मेटावर्स के आ जाने से लोगों को जीवन में रियल और वर्चुअल के भेद का बदलाव महसूस होगा। इसके आने से लोग जिस भी चीज की कल्पना करेंगे वह वैसा ही महसूस करने के लिए मेटावर्स का इस्तेमाल कर सकेंगे। फिर चाहे वह शॉपिंग करना हो, गेट टुगेदर हो या किसी दोस्त से मिलना हो। यह किसी अन्य नॉर्मल वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग या लाइव वीडियो की तरह नहीं होगा अपितु इसका उपचार बहुत से डिजिटल उपकरणों के माध्यम से अलग तरीके से किया जाएगा। मानो आप उसी दुनिया में फिलहाल मौजूद हों। 

मेटावर्स खराब क्यों है(why is the metaverse bad)

मेटावर्स में बुरा व्यवहार आज के ऑनलाइन उत्पीड़न और धमकाने से भी गंभीर हो सकता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि आभासी वास्तविकता लोगों को एक व्यापक डिजिटल वातावरण में डुबो देती है, जहां डिजिटल दुनिया में अवांछित स्पर्शों को वास्तविक महसूस कराया जा सकता है और संवेदी अनुभव उच्च होता है। इसलिए मेटावर्स ख़राब हे|

निष्कर्ष (Conclusion)

मेटावर्स भले ही लोगों को एक ऐसी दुनिया का अनुभव कर आएगा जो असली दुनिया के जैसी ही दिखेगी। मगर लोग अपने दिन का ज्यादा से ज्यादा समय इस पर लगा सकते हैं जिससे स्क्रीन टाइम भी बढ़ सकती है और निजी जिंदगी में भी इसके कई परिणाम देखने को मिल सकते हैं। 

Related Post:-

The new age electric scooter | bounce infinity E1

Delhi mahila haat( Sunday book bazar) will closed during lockdown 

A MAN WHO DID NOT EAT FOR 382 DAYS




Post a Comment

3 Comments

Please do not enter any spam link to the comment box